16460 शिक्षक भर्ती में आवेदन की मियाद बढ़ी, जहां पद नहीं, वह अभ्यर्थी दूसरे जिलों में करें आवेदन - UPTET | UPTET NEWS | PRIMARY KA MASTER | UPTET LATEST NEWS | UPDELED 2018

16460 शिक्षक भर्ती में आवेदन की मियाद बढ़ी, जहां पद नहीं, वह अभ्यर्थी दूसरे जिलों में करें आवेदन


सरकारी नौकरी चाहिए नौकरीपाओ.कॉम पर जाओ यहाँ क्लिक करो

16460 शिक्षक भर्ती में आवेदन की मियाद बढ़ी, जहां पद नहीं, वह अभ्यर्थी दूसरे जिलों में करें आवेदन

इलाहाबाद : बेसिक शिक्षा परिषद की ओर से संचालित प्राथमिक विद्यालयों में 16460 शिक्षकों की भर्ती के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन एवं आवेदन की मियाद बढ़ गई है। शासन ने 12460 सामान्य व 4000 पदों पर उर्दू भाषा के शिक्षकों की नियुक्ति का 
अलग-अलग आदेश जारी किया था। परिषद सचिव संजय सिन्हा ने बेसिक शिक्षा अधिकारियों को भेजे आदेश में कहा है कि अभ्यर्थियों को आ रही कठिनाइयों को देखते हुए आवेदन प्रक्रिया की तारीखों में बदलाव किया गया है। 112460 सामान्य शिक्षक भर्ती : 28 दिसंबर दोपहर बाद से ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन एवं आवेदन पत्र भरे जाने की प्रक्रिया चल रही है। ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन की अंतिम तारीख अब 12 जनवरी शाम पांच बजे तक तय की गई है। ऐसे ही 16 जनवरी तक आवेदन शुल्क जमा किया जा सकेगा। 18 जनवरी को शाम पांच बजे तक चालान भरते हुए आवेदन पूर्ण करने की अंतिम तारीख है। आवेदन पत्र में त्रुटि सुधार अभ्यर्थी 20 से 27 जनवरी शाम पांच बजे तक कर सकेंगे। 14000 उर्दू शिक्षक भर्ती : 30 दिसंबर दोपहर बाद से ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन एवं आवेदन पत्र भरे जाने की प्रक्रिया चल रही है। ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन की अंतिम तारीख 13 जनवरी शाम पांच बजे तक है। ऐसे ही 17 जनवरी तक आवेदन शुल्क जमा किया जा सकेगा। 19 जनवरी को शाम पांच बजे तक चालान भरते हुए आवेदन पूर्ण करने की अंतिम तारीख है। आवेदन पत्र में त्रुटि सुधार अभ्यर्थी 25 से 31 जनवरी शाम पांच बजे तक कर सकेंगे।

जहां पद नहीं, वह अभ्यर्थी दूसरे जिलों में करें आवेदन : सचिव ने निर्देश दिया है कि नियुक्तियों में पूरी पारदर्शिता बरती जाए।1ऐसे जिले जहां के लिए पद आवंटित नहीं है वहां के अभ्यर्थी किसी भी अन्य जिले में प्रथम वरीयता के आधार पर आवेदन कर सकते हैं। इस कार्य में शिथिलता स्वीकार नहीं होगी।

Click For Love Shayari, Romantic Shayari, Mehndi Design

सरकारी नौकरी चाहिए नौकरीपाओ.कॉम पर जाओ यहाँ क्लिक करो

No comments:

Post a Comment