Search This Blog

स्कूल में एक पौधा लगाओ, प्रवेश पाओ, राजकीय इंटर कॉलेज में तीन माह से चल रही अनोखी मुहिम


सरकारी नौकरी चाहिए नौकरीपाओ.कॉम पर जाओ यहाँ क्लिक करो

स्कूल में एक पौधा लगाओ, प्रवेश पाओ, राजकीय इंटर कॉलेज में तीन माह से चल रही अनोखी मुहिम

राजकीय इंटर कॉलेज में पर्यावरण संरक्षण को बढ़ावा देने के लिए एक अनोखी शुरू हुई है। जो छात्र बिना किसी सूचना के कॉलेज से गैर हाजिर रहता है उसका नाम काट दिया जाता है। दोबारा प्रवेश पाने के लिए उसे एक पौधा लाकर कॉलेज परिसर में लगाना होता है। इसका उद्देश्य छात्र को गलती का एहसास करने के साथ ही उसे पर्यावरण के प्रति जागरूक करना है। 1विगत तीन माह से कॉलेज में यह मुहिम चल रही है। कक्षा 12 के छात्र 
अभिषेक कुमार, दिनकर उपाध्याय, मिथिलेश सिंह, उबैद उल्ला सिद्दीकी, कक्षा नौ के छात्र अभय साहू, दिनेश कुमार, संजय मिश्र, फैजल खान, मोहम्मद परवीन व अवधेश प्रताप सिंह समेत कई कक्षाओं के छात्र बिना सूचना के छुट्टी पर चले गए थे। वापस आने पर छात्रों को बताया गया कि दोबारा प्रवेश पाने के लिए उन्हें कॉलेज में पौधा लगाना पड़ेगा। छात्रों ने पौधरोपण किया जिसके बाद उनको प्रवेश दिया गया। प्रधानाचार्य डीके सिंह का कहना है कि एक माह का अवकाश स्वीकृत करना तो प्रधानाचार्य के अधिकार में ही होता है। इस से उसका नाम कटने से बचेगा।राजकीय इंटर कालेज में छात्रों द्वारा लगाए गए पौधों को दिखाते प्रधानाचार्य डीके सिंह।
आसानी से नहीं मिलती छुट्टी
इलाहाबाद : छुट्टी लेने के  छात्र को अपने कक्ष निरीक्षक के पास कारण सहित प्रार्थना पत्र देना होता है। इसके बाद उसे छुट्टी दी जाती है। लंबी छुट्टी हासिल करने के लिए छात्र को प्रिंसिपल से स्वीकृत लेनी आवश्यक होती है। अगर विद्यार्थी बिना बताए स्कूल नहीं आ रहा तो उसका नाम काट दिया जाता है। प्रिंसिपल के संज्ञान में आने के बाद ही वह प्रवेश पा सकता है। 1रोज होती है हाजिरी की जांच 1इलाहाबाद : कक्षाओं में बच्चों की हाजिरी लग रही है या नहीं प्रिंसिपल प्रतिदिन हाजिरी रजिस्टर की जांच करते हैं। तीन दिन से अधिक कोई छात्र के नहीं आने पर उसके नहीं आने का कारण संबंधित कक्ष निरीक्षक से पूछताछ की जाती है।

Download Primary Ka Master Mobile App

सरकारी नौकरी चाहिए नौकरीपाओ.कॉम पर जाओ यहाँ क्लिक करो
Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...
mgid
Post A Comment
  • Blogger Comment using Blogger
  • Facebook Comment using Facebook
  • Disqus Comment using Disqus

No comments :