Search This Blog

Breaking News

68500 Vacancy News LT 9342 News Shikshamitra News
Join Facebook Group Teacher Jobs Transfer News

ARMY RECRUITMENT: सेना में भर्ती के लिए शर्तो में किए गए बदलाव, अब यह होगा चयन का नया तरीका

ARMY RECRUITMENT: सेना में भर्ती के लिए शर्तो में किए गए बदलाव, अब यह होगा चयन का नया तरीका

लखनऊ 1आधुनिक हथियारों से दुश्मन के छक्के छुड़ाने वाली सेना अपनी प्रशासनिक क्षमता विकसित करेगी। सेना में प्रशासनिक काम देखने वाले जवानों की भर्ती के लिए शर्त कड़ी कर दी गई है। अब फस्र्ट डिवीजन हासिल करने वाले अभ्यर्थी ही सैनिक क्लर्क, स्टोर कीपर तकनीकी (एसकेटी) और इनवेंट्री मैनेजमेंट (आइएम) की भर्ती में शामिल हो सकेंगे। एक अप्रैल 2017 से शुरू होने वाली भर्ती में नई व्यवस्था लागू की जाएगी। 1सेना में अभी तक इन पदों के लिए शैक्षिक योग्यता न्यूनतम 50 प्रतिशत अंकों के साथ इंटर पास होने के साथ ही हर 
विषय में न्यूनतम 40 प्रतिशत अंक व हाईस्कूल में गणित और अंग्रेजी होना जरूरी होता है। सेना ने अब नई व्यवस्था के तहत इंटर में न्यूनतम अंक 50 प्रतिशत से बढ़ाकर 60 प्रतिशत कर दिया है। साथ ही अभ्यर्थियों को हर एक विषय में न्यूनतम 50 प्रतिशत अंक हासिल करना जरूरी होगा। साथ ही हाईस्कूल या इंटर में अंग्रेजी, गणित, एकाउंट और बुक कीपिंग विषय होना जरूरी है। सेना के एक वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक अब तक जो अभ्यर्थी भर्ती हो रहे हैं वह शारीरिक दक्षता में तो बेहतर प्रदर्शन करते हैं, लेकिन पढ़ाई में कमजोर होने पर वह अंग्रेजी और गणित जैसे विषयों पर अपना काम बेहतर तरीके से नहीं कर पाते हैं। सेना होनहार युवकों को अब इन तीनों पदों के लिए मौका देगी। 1हर साल चार लाख युवक 1इन तीनों पदों के लिए हर साल सेना की भर्ती रैलियों में चार लाख से अधिक अभ्यर्थी हिस्सा लेते हैं। जबकि एक अप्रैल से 30 सितंबर और एक अक्टूबर से 31 मार्च तक दो भर्ती कैलेंडर के तहत 12 से अधिक भर्ती रैलियों में कुल छह लाख से अधिक अभ्यर्थी हर साल सेना भर्ती रैली में हिस्सा लेते हैं। नई व्यवस्था लागू होने के बाद रैलियों में अभ्यर्थियों की संख्या में कमी आएगी।’>>क्लर्क, एसकेटी और आइएम की भर्ती में अब 60 प्रतिशत अंक जरूरी 1’>>हर विषय में न्यूनतम 50 प्रतिशत की अर्हता होगी जरूरी

सरकारी नौकरी चाहिए नौकरीपाओ.कॉम पर जाओ यहाँ क्लिक करो

Please Join Facebook Group
Post A Comment
  • Blogger Comment using Blogger

No comments :