Search Post


Download Uptetnews App

Please Like Our Facebook Page

Follow Us on Twitter

भर्ती की जांच CB-CID से करवाने की वकालत, 2009 में हुई थी यह भर्ती: परीक्षा करवाने वाली एजेंसी के खिलाफ दर्ज हुई FIR

भर्ती की जांच CB-CID से करवाने की वकालत, 2009 में हुई थी यह भर्ती: परीक्षा करवाने वाली एजेंसी के खिलाफ दर्ज हुई FIR:-

लखनऊ: साल 2009 में प्रयोगशाला सहायक (ग्राम्य) के 728 पदों पर हुई भर्ती में गड़बड़ी की जांच अब सीबीसीआईडी करेगा। विभागीय जांच में दोषी पाए जाने पर स्वास्थ्य विभाग ने परीक्षा करवाने वाली एजेंसी मैसर्स मैनेजमेंट कंट्रोल सिस्टम को ब्लैक लिस्टेड करने के साथ एफआईआर भी दर्ज करवाई है। इसके साथ पूरे मामले की जांच सीबीसीआईडी से करवाने की सिफारिश की है।

कोर्ट गए अभ्यर्थी

चिकित्सा एवं स्वास्थ्य सेवा महानिदेशालय में प्रयोगशाला सहायक (ग्राम्य) की भर्तियां निकाली गई थीं। 30 अगस्त 2009 को इसकी परीक्षा करवाई गई। इसका जिम्मा 29, विधानसभा मार्ग स्थित मैसर्स मैनेजमेंट कंट्रोल सिस्टम को दिया गया था। इस परीक्षा में चयनित अभ्यर्थियों पर सवाल खड़े हुए। मनमाने ठंग से भर्तियां करने का आरोप भी लगा। आरोप था कि भर्ती के नाम पर एजेंसी और विभाग ने लाखों कमाए। कई अभ्यर्थी ऐसे थे जिनका आरोप था कि कुछ खास लोगों की ही भर्ती की गई है। इस बीच मनोज श्रीवास्तव नाम के एक अभ्यर्थी ने हाई कोर्ट में मामला दायर किया।

नहीं दिए दस्तावेज
सुनवाई के दौरान हाई कोर्ट ने परीक्षा में सफल अभ्यर्थियों की ओएमआर शीट पेश करने को कहा, लेकिन विभाग और कंपनी ने सफल अभ्यर्थियों की ओएमआर शीट उपलब्ध नहीं करवाई। फिर आदेश हुआ कि असफल अभ्यर्थियों की ओएमआर शीट दी जाए, लेकिन परीक्षा से सम्बंधित कोई शीट उपलब्ध नहीं करवाई जा सकी।
टेक्निकल संबंधी न्यूज़ जानने के लिए इस लिंक को क्लिक करें