Home Top Ad

पंचतत्व में विलीन हुए शिक्षकों के भीष्म पितामह

Share:

 पंचतत्व में विलीन हुए शिक्षकों के भीष्म पितामह

मेरठ: पूर्व एमएलसी ओमप्रकाश शर्मा का पार्थिव शरीर रविवार को पंचतत्व में विलीन हो गया। करीब पांच दशक तक शिक्षक राजनीति में सक्रिय शिक्षकों के भीष्म पितामह कहे जाने वाले शर्मा को पूरे राजकीय सम्मान के साथ अंतिम विदाई दी गई। मेरठ के सूरजकुंड में उनके अंतिम संस्कार में शिक्षक, राजनीति, सामाजिक क्षेत्र सहित अन्य क्षेत्रों के लोगों का जमावड़ा रहा। शास्त्रीनगर आवास से उनकी अंतिम यात्र निकाली गई।


1970 से 2020 तक लगातार आठ बार शिक्षक सीट से एमएलसी रहे ओपी शर्मा का शनिवार रात को निधन हो गया था। रात से ही उनके शास्त्रीनगर आवास पर काफी भीड़ जुटना शुरू हो गई थी। दोपहर डेढ़ बजे तक आवास पर अंतिम दर्शन करने के लिए लोगों का तांता लगा रहा। इसके बाद उनकी अंतिम यात्र निकाली गई। तिरंगे में लिपटे उनके पार्थिव शरीर को फूलों से सजे ट्रक में रखा गया। करीब तीन बजे उनके बड़े बेटे अमित प्रकाश ने पार्थिव देह को मुखाग्नि दी। इस दौरान एमएलसी गोरखपुर- आजमगढ़ से लखनऊ से रामेश्वर उपाध्याय, प्रादेशीय मंत्री आरपी मिश्र, कानपुर से हेमराज सिंह आदि मौजूद रहे।